Skip to main content

CorelDRAW (हिंदी नोट्स) | | Computer Hindi Notes

 CorelDRAW


Introduction of CorelDRAW

(कोरेल ड्रा का परिचय ):

यह एक डिज़ाइन सॉफ्टवेयर है।जिसका निर्माण Corel Corporation eyes khada  द्वारा विकसित किया गया  है ।जिसके द्वारा हैम किसी भी प्रकार का डिज़ाइन ,पोस्टर,कार्ड एवं किसी भी प्रकार के डिज़ाइन के कार्य को सफलतापूर्वक कर सकते है तथा बनाये गए डिज़ाइन में अपनी आवश्यकता अनुसार कलर को फील कर सकते है।शुरू से लेकर आज तक इसके कई वर्शन मार्केट में उपलब्ध है।जो निम्न है।
CorelDRAW 5.5 , CorelDRAW 7.0 , CorelDRAW 9 , CorelDRAW 10 , CorelDRAW 11 , CorelDRAW 12 ,CorelDRAW 13 , CorelDRAW 14 , इत्यादि। इसमे 12,13,14 के सबसे अधिक संख्या में प्रयोग किये जाते है। इसमें बनाई जाने वाली फ़ाइल का एक्सटेंशन नाम C.D.R. जिसका पूरा नाम CorelDRAW होता है।

Features (विशेषताएं):

 1' इसमे इमेज को इम्पोर्ट तथा एक्सपोर्ट करने की सुविधा दी गई है।
 2,  इसमे दिए गए टूलबार ऑप्शन के द्वारा CorelDRAW में अनेक प्रकार की डिज़ाइन बना सकते है । तथा अपनी अवस्यकतानुसार कलर फील(भरना) कर सकते है।
3,  इसमे लिखे गए प्रत्येक अक्षर को अलग -अलग कर सकते है। तथा पहले से बनाये गए ऑब्जेक्ट को कई आकार एवं प्रकार  को परिवर्तित कर सकते है।
 4,  CorelDRAW में दिए गए Properties Bar का प्रयोग बहुत अधिक मात्रा में होता है। क्योंकि यहां से हम पेज को निर्धारण बहुत ही आसानी से कर सकते है। 
5,  CorelDRAW में ठीक उसी प्रकार से डिज़ाइन बना सकते है।जिस प्रकार से पेंसिल के द्वरा कागज पर बनाते है।
 6,   इसमे हम किसी भी डिज़ाइन को सफलता पूर्वक एक्सपोर्ट कर सकते है।
 

File Menu(फाइल मेनू):





File Menu(फाइल मेनू):

New(न्यू)

Open(ओपन)

Save(सेव)

Import(इम्पोर्ट)

Export(एक्सपोर्ट)

Zoom(ज़ूम)

Application launcher (एप्लीकेशन लांचर)

Corel online(कोरल ऑनलाइन)

Properties Bar(प्रॉपर्टीज बार)


New(न्यू):

इस ऑप्शन का परयो कोरल ड्रा में एक नए पेज को इन्सर्ट(लाना) करने के लिए किया जाता है।

इसकी शॉर्टकट की Ctrl+N होती है।

Open(ओपन):

इस ऑप्शन का प्रयोग पहले से फ़ाइल(मैटर) को कोरल ड्रा के पेज पर लाने के लिए किया जाता है।

इसकी शॉर्टकट की Ctrl+O होती है।

Save(सेव):

इस ऑप्शन का प्रयोग कोरल ड्रा के बनाई जा रही फ़ाइल को सेव(सुरक्षित) करने के लिए किया जाता है।

Import(इम्पोर्ट):

इस ऑप्शन का प्रयोग करने पर इसका एक बॉक्स डिस्प्ले होता है।जिसमे पहले से सेव की गई फ़ाइल या पिक्चर को पेज पर ला सकते है।

Export(एक्सपोर्ट):

इस ऑप्शन का प्रयोग CorelDRAW में बनाई गई डिज़ाइन को किसी दूसरे फ़ाइल में एक्सपोर्ट करने के लिए किया जाता है।

Zoom(ज़ूम):

इस ऑप्शन का प्रयोग सिलेक्टेड टेक्स्ट अथवा ऑब्जेक्ट को ज़ूम(बड़ा) करके देखने के लिए किया जाता है।


Application launcher(एप्लीकेशन लांचर):

इस ऑप्शन का प्रयोग हम तब करते है ।जब CorelDRAW के सहयोगी प्रोग्राम जैसे Corel,Photo,Paint,Corel Revel,इत्यादि।

Corel online(कोरल ऑनलाइन):

इस टूल का प्रयोग करके हम Corel पर जा कर CorelDRAW से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Properties Bar(प्रॉपर्टीज बार):

इसमे इसकी अहम भूमिका है।जैसे कोई टूल सेलेक्ट करते है। तो उससे रेलेटेड और भी टूल प्रॉपर्टीज बार मे आ जाते है।जिसके द्वारा उस टूल को कस्टमाइज करके और टूल क्राइड कर लेते है।तथा किये जा रहे कार्य के अनुरूप टूल का प्रयोग करते है।


Edit Menu(एडिट मेनू):


Edit Menu(एडिट मेनू):

Undo(अनडू)

Redu(रेडू)

Repeat(रिपीट)

Cut(कट)

Copy(कॉपी)

Paste(पेस्ट)

Paste special(पेस्ट स्पेशल)

Delete(डिलीट)

Simple(सिंपल)

Duplicate(डुप्लीकेट)

Copy properties from(कॉपी प्रॉपर्टीज फ्रॉम)

Overprint fill(ओवर प्रिंटर)

Find and replace(फाइंड एंड रिप्लेस)

Insert internet object(इन्सर्ट इंटरनेट ऑब्जेक्ट)

Insert Bar Code(इन्सर्ट बार कोड)

Insert new object(इन्सर्ट नई ऑब्जेक्ट)

Object(ऑब्जेक्ट)

Link(लिंक)

Properties(प्रॉपर्टीज) ALT+Enter



Undo(अनडू):

इस ऑप्शन का प्रयोग कार्य करते समय कोई गलती हो जाने पर वापस जाकर उस कार्य को ठीक करने के लिए किया जाता है।

इसकी शॉर्टकट की Ctrl+Z है।

Redu(रेडू):

यह ऑप्शन टैब कार्य करता है। जब हम अनडू ऑप्शन का प्रयोग करके पीछे गए होते है।

इस ऑप्शन के द्वारा हम पुनः एक-एक स्पेट आगे जा सकते है।

इसकी शॉर्टकट की Ctrl+Y होती है।

Repeat(रिपीट):

इस ऑप्शन का प्रयोग वर्तमान समय मे किये जा सहे कार्य को अर्थात लास्ट टाइम में किये गए कार्य को बराबर रिपीट करने के लीये किया जाता है।अर्थात वही कार्य दोबारा करने के लिए किया जाता है।

Cut(कट):

इस ऑप्शन का प्रयोग सिलेक्टेड टेक्स्ट अथवा ऑब्जेक्ट को कट करने के लिए किया जाता है। जिससे कट किया गया टेक्स्ट अथवा ऑब्जेक्ट उस स्थान से हट जाता है।

इसकी शॉर्टकट की Ctrl+X होती है।

Copy(कॉपी):

इस ऑप्शन का प्रयोग सिलेक्टेड टेक्स्ट अथवा ऑब्जेट को कॉपी करने के लिए किया जाता है।

इसकी शॉर्टकट की Ctrl+C होती है।

Paste(पेस्ट):

इस ऑप्शन का प्रयोग कट अथवा कॉपी किये गए टेक्स्ट अथवा ऑब्जेक्ट को पुनः वापस लाने के लिए किया जाता है।

इसकी शॉर्टकट की Ctrl+V होती है।

Paste special(पेस्ट स्पेशल):

इस ऑप्शन का प्रयोग कट या कॉपी किये गए मैटर को स्पेशल रूप से अर्थात अलग -अलग फॉर्मेट में पेस्ट करने के लिए किया जाता है।

इसकी शॉर्टकट की  CTRL+ALT+Vहोती है ।

Delete(डिलीट):

इस ऑप्शन का प्रयोग सिलेक्टेड टेक्स्ट अथवा ऑब्जेक्ट को डिलीट करने के लिए किया जाता है। 

Duplicate:

इस ऑप्शन का प्रयोग सिलेक्टेड ऑब्जेक्ट या टेक्स्ट की डुप्लीकेट कॉपी तैयार करने के लीये किया जाता है।

इसकी शॉर्टकट की Ctrl+D  होती है।


Copy Properties From:

इस ऑप्शन का प्रयोग एक ऑब्जेक्ट की प्रॉपर्टीज को दूसरे ऑब्जेक्ट पर अप्लाई करने के लियें किया जाता है।

Over Print Fill(ओवेल प्रिंट फील):

यह ऑप्शन टैब हाईलाइट होता है । जब हम कोई ऑब्जेक्ट बनाये होते है। टैब इस ऑप्शन के over Print Fill को ऑन /ऑफ कर सकते है।

Find and Replace (फाइंड एंड रिप्लेस):

फाइंड ऑप्शन का प्रयोग किसी विशेष शब्द(वर्ड) को ढूढने के लिए किया जाता है ।

 इसकी शॉर्टकट की Ctrl+F होती है ।

तथा रिप्लेस ऑप्शन का प्रयोग ढूढे गए शब्द(वर्ड) के स्थान कोई दूसरा शब्द(वर्ड) लिखने के लिए किया जाता है।

इसकी शॉर्टकट की Ctrl+H होती है।

Insert Internet Object(इन्सर्ट इंटरनेट ऑब्जेक्ट):

इस ऑप्शन का प्रयोग करने पर इसका एक लिस्ट डिस्प्ले होता है।जिसमे पहले से इंटरनेट से संबंधित सिंबल या ऑब्जेक्ट स्थित होता है।जहाँ से हम किसी भी इंटरनेट के ऑब्जेक्ट को पेज पर इन्सर्ट कर सकते है।

Internet Bar Code(इंटरनेट बार कोड):

इस ऑप्शन का प्रयोग करने पर इसका एक सबमेनु होता है। जिसके द्वारा किसी भी प्रोडक्ट के लिए बार कोड नंबर का निर्धारण कर सकते है। जिससे उस प्रोडक्ट को बार कोड भी पहचाना जा सकता है।

Insert New Object(इन्सर्ट नई ऑब्जेक्ट):

इस टूल का प्रयोग करने पर इसका एक बॉक्स डिस्प्ले होता है।जिसके द्वारा हम किसी भी सॉफ्टवेर में जाकर ऑब्जेक्ट या डिज़ाइन बनाकर कोरल ड्रा के पेज पर इन्सर्ट(लाना) कर सकते है।

Link(लिंक):

इन ऑप्शन का प्रयोग किसी अन्य फ़ाइल के लिंक बनाने के लिए किया जाता है।

Properties(प्रॉपर्टीज):

इस ऑप्शन का प्रयोग करने पर इसका एक बॉक्स डिस्प्ले होता है।जिसके द्वारा बनाई गई फ़ाइल को अथवा सिलेक्टेड ऑब्जेक्ट की प्रॉपर्टीज को देखने के लिए किया जाता है।


CorelDRAW View Menu(कोरेल ड्रा व्यू मेनू)

Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

MS Excel (हिंदी नोट्स) Hindi notes

MS Excel Introduction Of MS Excel: (एम एस एक्सेल का परिचय ): एम एस ऑफिस के अंतर्गत दिया गया एम एस एक्सेल एक ऑफिसियल प्रोग्राम है। इसके अंतर्गत वर्कशीट बनाने का कार्य किया जाता है तथा बनाये गए वर्कशीट पर डाटा एंट्री कर सकते है। यह एक मैथेमेटिकल प्रोग्राम है। जिसके अंतर्गत ऑफिस में होने वाले कार्यो को आसानी से किया  जा सकता  है। शुरू -शुरू  में यह प्रोग्राम टूल्स के अंतर्गत चलाया जाता था। जिसमे सिमित सुविधाएं दी गई थी। लेकिन अब विंडोज के वातावरण में चलाया जाता है। इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिट भी कहते है। इसमें बनाई जाने वाली फाइल का एक्सटेंशन नाम .xls होता है। Features of MS Excel: एम एस एक्सेल की विशेषताएं: एम एस एक्सेल  एक डाटा एंट्री प्रोग्राम है इसमें मैथेमेटिकल कार्यो को कर सकते है।  इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिटशीट भी कहते है।  इसके वर्कशीट में 256 रो और 65536 कॉलम होते है।  इसमें बनाई गई फाइल को इंटरनेट के वातावरण सेव करने की सुविधा दी गई है।  इसमें दिए गए ऑप्शन मर्ज सेंटर के द्वारा हम कई सेलो को मिलकर एक सेल बना सकते है।  इसमें बनाई गई वर

MS Word (हिंदी नोट्स )

  MS Word एम एस वर्ड का परिचय : Introduction of MS Word: एम एस वर्ड माइक्रोसॉफ्ट कार्पोरेशन द्वारा तैयार किया गया एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है। इसके द्वारा ऑफिशल कार्यो को आसानी से कर सकते है। शुरू - शुरू में यह प्रोग्राम एम एस डांस के वातावरण में वर्ड स्टार के नाम से चलता था। जिसमे सिमित सुविधाएं प्रदान की गई थी। एम एस पेंट में लेटर टाइपिंग या अन्य प्रकार के साथ -साथ थोड़ा बहुत पिक्चर भी डिज़ाइन कर सकते है। एम एस वर्ड द्वारा बनाई गई फाइल का एक्सटेंशन नाम .doc  होता है। यह एक बड़ा वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम है। जिसमे टेक्स्ट की फॉर्मेटिंग सरल तरीके से कर सकते है। इसके कई वर्शन है जो इस प्रकार है MS Word   97 MS Word   xp MS Word   2000 MS Word   2002 MS Word   2003 MS Word   2005 MS Word   2007 MS Word   2010 MS Word   2016 एम एस की विशेषताएं : Features of MS Word:  इसमें डॉक्युमेंट फाइल का निर्माण होता है।   इसमें पासवर्ड देने लगाने की सुविधा दी गई है। जिसके प्रयोग करके हम बनाई जा रही फाइल को पासवर्ड से लॉक कर सकते है।  इसमें कई डिज़ाइन में हम टेबल का निर्माण