Skip to main content

कंप्यूटर की भाषाये

 

कंप्यूटर भाषाएँ

कंप्यूटर की भाषा एक प्रकार का कोड है जिसे प्रोग्रामर द्वारा विकशित किया जाता है। कंप्यूटर की भाषा सॉफ्टवेयर और प्रोग्राम के बीच समंध स्थापित करने के लिए जिम्मेदार है।कंप्यूटर की भाषा की मदद से एक कंप्यूटर उपयोगकर्त्ता कंप्यूटर से डेटा प्रोसेस करने के लिए आवश्यक कमांड की पहचान अच्छे तरीके से कर सकता है।

कंप्यूटर की इन भाषाओं को तीन भागो में बता गया है।

1.मशीनी भाषा

2.असेम्बली भाषा

3.उच्च स्तरीय भाषा


यह भी पढ़े... हार्ड डिस्क क्या है ?

मशीनी भाषा:

यह भाषा कंप्यूटर की मूल भाषा है। इस भाषा को CPU (Central Processing Unit) के द्वारा समझा जाता है।कंप्यूटर की इस भाषा को किसी व्यक्ति के लिए समझना आसान नही है क्योंकि इस भाषा मे कोई भी कमांड देने के लिए बाइनरी अंको(केवल एक 1 और शून्य 0) का प्रयोग कंप्यूटर द्वारा किया जाता है।

असेम्बली भाषा :

यह एक विशेष प्रकार की भाषा के कोड का एक सेट है।इस भाषा को मशीनी भाषा के द्वारा तैयार किये जाने वाले प्रोग्राम में आने वाली कठिनाइयों को दूर करने के उद्देश्य से बनाया गया। इस भाषा का नाम असेम्ब्ली भाषा है।  इसे सीधे कंप्यूटर के प्रोसेसर पर चलाया जाता है।
कंप्यूटर की वह भाषा जिसमे मशीनी भाषा द्वारा प्रयोग किये गये अंको के स्थान पर अक्षर अथवा चिन्हो  

उच्च स्तरीय भाषा:

कंप्यूटर की यह भाषा एक प्रोग्रामिंग भाषा है जिसे गणितीय चिन्हो,कैरेक्टर,प्रकिर्तिक भाषा तथा चिन्हो के संयोजन द्वारा विकसित किया गया है। ये भाषा किसी विशेष प्रोग्राम को और तीव्र गति प्रदान करने तथा आसान करने के उद्देश्य से बनाई गई है। कुछ उच्च स्तरीय भाषाएँ निम्न है। 
 

1. फारट्रान(FORTRAN)|~ इस भाषा का विकाश गणितीय सूत्रों को आसानी से हल करने के लिए किया गया है।

2. कोबोल(COBOL)~ इस भाषा का विकाश व्यवसाय के उद्देश्य से किया गया ।

3. अल्गोल(ALGOL)~  इस भाषा का विकाश जटिल बीजगणितीय गणनाओ हेतु किया गया।

4. पास्कल(PASCAL)~ यह भाषा अल्गोल भाषा का ही विकशित रूप है।

5. कोमाल(COMAL)

6. लोगो(LOGO)

7. प्रोलॉग(PROLOG)

8. फोर्थ(FORTH)

9. बेसिक(BASIC)


स्मरणीय तथ्य(Memorable Facts):

  •  प्रथम व्यापारिक कंप्यूटर यूनिवैक-1 (UNIVAC-1) का निर्माण 1954 ई. में GEC (General Electric Corporation) ने किया।
  • प्रथम माइक्रो प्रोसेसर 'इंटेल-4004' का निर्माण इंटेल कंपनी द्वारा 1970 ई. में किया गया।
  • प्रथम व्यवसायिक माइक्रो कंप्यूटर 'एप्पल-!!' का निर्माण 1977 ई. में किया गया।
  • इंटीग्रेटेड सर्किट (IC) का विकाश 1958 ई. में जैक किल्वी तथा रॉबर्ट नोयी द्वारा किया गया ।
  • विश्व का सबसे तेज़ कंप्यूटर आई बी एम(IBM) द्वारा निर्मित 'ब्लू जीन' (Blue Gene) है।
  • भारत का सबसे तेज़ कंप्यूटर 'एका' (EKA) (टाटा के CRL पुणे द्वारा विकशित) है।
  • IBL के 'डीप ब्लू' (Deep Blue) कंप्यूटर ने शतरंज के विश्व चैंपियन गैरी कास्परोव को पराजित किया था।
  • विश्व के प्रथम सुपर कंप्यूटर 'क्रे० के०-1एस' (Cray के-1S) का निर्माण अमेरिका की क्रे रीसर्च कंपनी ने 1979 ई. में किया।
  • भारत के प्रथम सुपर कंप्यूटर 'फ्लोसाल्वेर' का विलाश NAL बेंगलुरु द्वारा किया गया।
  • भारत के पर सीरिज के सुपर कंप्यूटर 'परम- 1000' एवं 'परम पद ' का निर्माण सी- डैक (C-DAC), पुणे द्वारा विकशित किया गया।
  • 'अनुपम' सीरीज के कंप्यूटर का विकास बार्क (BARC- Bhabha Atomic Reaserch Centre), मुम्बई द्वारा किया गया।
  • 'पेस' ( Pace) सिरीज़ के सुपर कंप्यूटर का विकास 'डीआरडीओ' ( DRDO Defense Research and Development Organisation) , हैदराबाद द्वारा किया गया।


Comments

Popular posts from this blog

MS Excel (हिंदी नोट्स) Hindi notes

MS Excel Introduction Of MS Excel: (एम एस एक्सेल का परिचय ): एम एस ऑफिस के अंतर्गत दिया गया एम एस एक्सेल एक ऑफिसियल प्रोग्राम है। इसके अंतर्गत वर्कशीट बनाने का कार्य किया जाता है तथा बनाये गए वर्कशीट पर डाटा एंट्री कर सकते है। यह एक मैथेमेटिकल प्रोग्राम है। जिसके अंतर्गत ऑफिस में होने वाले कार्यो को आसानी से किया  जा सकता  है। शुरू -शुरू  में यह प्रोग्राम टूल्स के अंतर्गत चलाया जाता था। जिसमे सिमित सुविधाएं दी गई थी। लेकिन अब विंडोज के वातावरण में चलाया जाता है। इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिट भी कहते है। इसमें बनाई जाने वाली फाइल का एक्सटेंशन नाम .xls होता है। Features of MS Excel: एम एस एक्सेल की विशेषताएं: एम एस एक्सेल  एक डाटा एंट्री प्रोग्राम है इसमें मैथेमेटिकल कार्यो को कर सकते है।  इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिटशीट भी कहते है।  इसके वर्कशीट में 256 रो और 65536 कॉलम होते है।  इसमें बनाई गई फाइल को इंटरनेट के वातावरण सेव करने की सुविधा दी गई है।  इसमें दिए गए ऑप्शन मर्ज सेंटर के द्वारा हम कई सेलो को मिलकर एक सेल बना सकते है।  इसमें बनाई गई वर

MS Word (हिंदी नोट्स )

  MS Word एम एस वर्ड का परिचय : Introduction of MS Word: एम एस वर्ड माइक्रोसॉफ्ट कार्पोरेशन द्वारा तैयार किया गया एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है। इसके द्वारा ऑफिशल कार्यो को आसानी से कर सकते है। शुरू - शुरू में यह प्रोग्राम एम एस डांस के वातावरण में वर्ड स्टार के नाम से चलता था। जिसमे सिमित सुविधाएं प्रदान की गई थी। एम एस पेंट में लेटर टाइपिंग या अन्य प्रकार के साथ -साथ थोड़ा बहुत पिक्चर भी डिज़ाइन कर सकते है। एम एस वर्ड द्वारा बनाई गई फाइल का एक्सटेंशन नाम .doc  होता है। यह एक बड़ा वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम है। जिसमे टेक्स्ट की फॉर्मेटिंग सरल तरीके से कर सकते है। इसके कई वर्शन है जो इस प्रकार है MS Word   97 MS Word   xp MS Word   2000 MS Word   2002 MS Word   2003 MS Word   2005 MS Word   2007 MS Word   2010 MS Word   2016 एम एस की विशेषताएं : Features of MS Word:  इसमें डॉक्युमेंट फाइल का निर्माण होता है।   इसमें पासवर्ड देने लगाने की सुविधा दी गई है। जिसके प्रयोग करके हम बनाई जा रही फाइल को पासवर्ड से लॉक कर सकते है।  इसमें कई डिज़ाइन में हम टेबल का निर्माण