Skip to main content

हार्ड डिस्क क्या है और उसके प्रकार

 हार्ड डिस्क क्या है


Hard Disk (हार्ड डिस्क ):

हार्ड डिस्क एक प्रकार का स्टोरेज डिवाइस होता है। इसका प्रयोग बहुत अधिक मात्रा में आकड़ो को संग्रहित करने के लिए किया जाता है।
इसका उपयोग मुख्यतः लैपटाप या कंप्यूटर में किया जाता है। हार्ड डिस्क डाटा को स्टोर करने के लिए एक या एक से अधिक बार घूर्णन करती है। हार्ड डिस्क की संग्रहण क्षमता GB (गीगाबाइट ) या TB (टेराबाइट ) मापा जाता है। 

सॉलिड डिस्क ड्राइव (SSD):

यह एक स्टोरेज डिवाइस है। जो किसी भी डाटा को हार्ड डिस्क की अपेक्षा कम समय में रीड(पढ़ना) कर सकती है। अर्थात इसमें डाटा इसमें डाटा तीव्र गति से स्टोर किया जा सकता है। 
यह एक प्रकार की मेमोरी है जिसमे SSDs फ्लैश-आधारित मेमोरी का उपयोग करके हार्ड डिस्क की जगह इसका उपयोग कर सकते है।
सॉलिड-स्टेट ड्राइव (SSD) कंप्यूटर में उपयोग होने वाली एक नई पीढ़ी का स्टोरेज डिवाइस है।  




CD Rom (Compact Disk Read Only Memory):

इस डिवाइस के माध्यम से हम कंप्यूटर के किसी सॉफ्टवेयर एवं  प्रोग्रम को इंस्टाल करने का कार्य करते है। इसके साथ ही हम किसी फिल्म अथवा गाने को सी डी में उपलोड कर सकते है। 



Important Point (महत्वपूर्ण बिंदु ):

8 Bit = 1 Byte
1024 Byte = 1 KB (किलोबाइट )
1024 KB = 1 MB (मेगाबाइट )
1024 MB = 1 GB (गीगाबाइट )
1024 GB = 1 TB (टेराबाइट )

Memory(स्मृति )

जिस तरह से मनुष्य को कार्य करने के लिए मस्तिष्क की आवश्यकता होती है। ठीक उसी प्रकार कंप्यूटर को कार्य करने के लिए मेमोरी की आवश्यकता होती है। कंप्यूटर में मुख्य रूप दो मेमोरी होती है। 

  1. Primary memory(मुख्य मेमोरी )
  2. Secondary memory(माध्यमिक मेमोरी )

Primary Memory (मुख्य मेमोरी ):

यह कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी होती है। क्योकि इसके बिना हम कंप्यूटर पर कार्य नहीं कर सकते है। इसका सम्बन्ध कंप्यूटर की ऑपरेटिंग क्रिया से होती है। अर्थात इसके बिना कंप्यूटर को ऑपरेट नहीं किया जा सकता है। 
यह मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है। 
  1. ROM (Read only memory)
  2. RAM (Random access memory)

1. ROM (Read Only Memory):

इस प्रकार की मेमोरी का प्रयोग कंप्यूटर में लिखित डाटा को पढ़ने तथा उसके अनुसार कार्य करने के लिए किया जाता है। इसलिए इसे रीड ओनली मेमोरी कहा जाता है। यह मेमोरी चिप के रूप  हमारे कंप्यूटर के मदरबोर्ड में लगी होती है। इसमें डाटा स्थाई रूप से स्टोर होता है। जिसको मिटाया या नष्ट नहीं किया जा सकता है। इसलिए इसे स्थाई मेमोरी भी कहतेहै है। 

2. RAM (Random Access Memory):

यह एक ऐसी मेमोरी होती है जहाँ सभी प्रकार के डाटा स्टोर होती है। जब हम कंप्यूटर में कोई भी इफॉर्मेशन इनपुट करते है  तो वह प्राइमरी मेमोरी में होती है। इनफार्मेशन  को प्राइमरी मेमोरी तक ले जाने जिस मेमोरी का प्रयोग किया जाता है उसे रैंडम एक्सेस मेमोरी कहते है। 




Secondary Memory (माध्यमिक मेमोरी ):

कंप्यूटर  को दी गई सूचनाओं एवं निर्देशों से प्राप्त परिणाम को स्टोर करने के लिए सेकडरी स्टोरेज डिवाइस का प्रयोग किया जाता है। इसे वैकल्पिक मेमोरी भी कहते है। इस प्रकार की मेमोरी में डाटा एवं निर्देशों को स्थाई रूप से स्टोर कर के रख सकते है। 
उदहारण : फ्लापी डिस्क , हार्ड डिस्क ,सी डी  रोम ,आदि। 


Floppy Disk(फ्लापी डिस्क ):

इस स्टोरेज डिवाइस का निर्माण 1970 ई ० में हुआ। इसमें डाटा बहुत जल्दी संग्रहित होता है। यह प्लास्टिक से बनी एक गोल डिस्क होती है जिस पर मैगनेटिक लेयर बिछी होती है। यह प्लास्टिक के एक कवर में होता  है। 
जिसमे हम किसी भी डाटा को स्टोर कर सकते है। 

Comments

Popular posts from this blog

MS Excel (हिंदी नोट्स) Hindi notes

MS Excel Introduction Of MS Excel: (एम एस एक्सेल का परिचय ): एम एस ऑफिस के अंतर्गत दिया गया एम एस एक्सेल एक ऑफिसियल प्रोग्राम है। इसके अंतर्गत वर्कशीट बनाने का कार्य किया जाता है तथा बनाये गए वर्कशीट पर डाटा एंट्री कर सकते है। यह एक मैथेमेटिकल प्रोग्राम है। जिसके अंतर्गत ऑफिस में होने वाले कार्यो को आसानी से किया  जा सकता  है। शुरू -शुरू  में यह प्रोग्राम टूल्स के अंतर्गत चलाया जाता था। जिसमे सिमित सुविधाएं दी गई थी। लेकिन अब विंडोज के वातावरण में चलाया जाता है। इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिट भी कहते है। इसमें बनाई जाने वाली फाइल का एक्सटेंशन नाम .xls होता है। Features of MS Excel: एम एस एक्सेल की विशेषताएं: एम एस एक्सेल  एक डाटा एंट्री प्रोग्राम है इसमें मैथेमेटिकल कार्यो को कर सकते है।  इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिटशीट भी कहते है।  इसके वर्कशीट में 256 रो और 65536 कॉलम होते है।  इसमें बनाई गई फाइल को इंटरनेट के वातावरण सेव करने की सुविधा दी गई है।  इसमें दिए गए ऑप्शन मर्ज सेंटर के द्वारा हम कई सेलो को मिलकर एक सेल बना सकते है।  इसमें बनाई गई वर

MS Word (हिंदी नोट्स )

  MS Word एम एस वर्ड का परिचय : Introduction of MS Word: एम एस वर्ड माइक्रोसॉफ्ट कार्पोरेशन द्वारा तैयार किया गया एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है। इसके द्वारा ऑफिशल कार्यो को आसानी से कर सकते है। शुरू - शुरू में यह प्रोग्राम एम एस डांस के वातावरण में वर्ड स्टार के नाम से चलता था। जिसमे सिमित सुविधाएं प्रदान की गई थी। एम एस पेंट में लेटर टाइपिंग या अन्य प्रकार के साथ -साथ थोड़ा बहुत पिक्चर भी डिज़ाइन कर सकते है। एम एस वर्ड द्वारा बनाई गई फाइल का एक्सटेंशन नाम .doc  होता है। यह एक बड़ा वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम है। जिसमे टेक्स्ट की फॉर्मेटिंग सरल तरीके से कर सकते है। इसके कई वर्शन है जो इस प्रकार है MS Word   97 MS Word   xp MS Word   2000 MS Word   2002 MS Word   2003 MS Word   2005 MS Word   2007 MS Word   2010 MS Word   2016 एम एस की विशेषताएं : Features of MS Word:  इसमें डॉक्युमेंट फाइल का निर्माण होता है।   इसमें पासवर्ड देने लगाने की सुविधा दी गई है। जिसके प्रयोग करके हम बनाई जा रही फाइल को पासवर्ड से लॉक कर सकते है।  इसमें कई डिज़ाइन में हम टेबल का निर्माण