Skip to main content

Resume Kaise Banaye

How To Create Resume


रिज्यूम क्या है:

दोस्तो किसी भी जॉब(नौकरी) के लिए जब हम अप्लाई करते है। तो हमे रिज्यूम देना आवस्यक होता है।

रिज्यूम कंप्यूटर द्वारा बनाई गई एक कॉपी होती है।जिसे हम एम एस वर्ड या किसी अन्य सॉफ्टवेयर से बना सकते है।

रिज्यूम बनाने के लिए आपके पास आप के सभी दस्तावेज की जानकारी होना आवश्यक है।और उसके साथ ही एक पासपोर्ट साइज फ़ोटो का होना भी जरूरी है।

जिससे कि आप रिज्यूम के रूप में बनाये जा रहे फॉर्म को सही तरीके से भर सके।



रिज्यूम कैसे बनाये:

1:- दोस्तो रिज्यूम बनाने के लिए सबसे पहले आपको  एम एस वर्ड सॉफ्टवेयर को ओपन करना होगा।

 2:-इसके बाद नई ब्लेंक डॉक्यूमेंट पर क्लिक करना होगा।



अब आपके सामने एम एस वर्ड का डिफ़ॉल्ट इंटरफेस दिखने लगेगा।

3:-अब आपको मेनू बार मे दिए गए इन्सर्ट मेनू के अंतर्गत आने वाले टेबल ऑप्शन पर क्लिक करके 3 बाइ 5 का कॉलम इन्सर्ट करना होगा।





4:-अब आपको लाये गए टेबल के दाहिने साइड के सभी कॉलम को सेलेक्ट करके मर्ज(मिलाना) करना होगा।

5:-अब आपको लाये गए कॉलम में अपना नाम, फ़ोटो,आदि लगाना है।



इतना सब कुछ हो जाने के बाद अब आपको शिक्षा से संबंधित जानकारी सांझा करने के लिए एक और कॉलम को इन्सर्ट करना होगा। जिसमें पांच पंक्ति(row) तथा जितनी आप के पास डिग्रीया उतने स्तंभ(Column) के साइज के टेबल को इन्सर्ट करना है।

इस रोव एंड कॉलम में आप अपनी शिक्षा से संबंधित जानकारी भरनी है।


अब आपको अनुभव(Experience)   को सांझ कर सकते है। एसके लिए आपको कोई टेबल लेन की जरूरत नही है। आप ऐसे ही अपने जानकरी को लाइन बाई लाइन लिख दीजिये।


इसके बाद आप को कंफर्म करने जे लिए लिखना है कि आप के द्वारा दी गई जानकारियां बिल्कुल सही है।


इसके बाद आप को दिनांक तथा सिग्नेचर का ऑप्शन बनाकर छोड़ देना है। इस ऑप्शन को आप रिज्यूम/बायो डेटा प्रिंट करने के बाद पेन से भर देना है।



दोस्तो यदि आप किसी टेबल के सभी कॉलम को हटाने चाहते है।तो टेबल के बाएं साइड में ऊपर दिए गए चतुर्भुज की आकृति पर राइट क्लिक करके टेबल प्रॉपर्टीज ऑप्शन पर क्लिक करे।इसके बाद बॉर्डर इनसाइड पर जाए और नॉन(none) विकल्प पर क्लिक करे।

अब आपने जिस टेबल से टेबल बॉर्डर हटाना चाहते है। वो हट चुका है।

अब आप Ctrl+S कुंजी का उपयोग करके बनाये गए रिज्यूम/बायो डेटा को सेव(सुरक्षित) कर लीजिए या Ctrl+P कुंजी का प्रयोग करके प्रिंट कर लीजिये ।


दोस्तो इस जानकारी को अपने दोस्तो के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करे जिससे आप सभी को रिज्यूम बनवाने के लिए किसी साइबर कैफे पर न जाना पड़े।

धन्यवाद,



Comments

Popular posts from this blog

MS Excel (हिंदी नोट्स) Hindi notes

MS Excel Introduction Of MS Excel: (एम एस एक्सेल का परिचय ): एम एस ऑफिस के अंतर्गत दिया गया एम एस एक्सेल एक ऑफिसियल प्रोग्राम है। इसके अंतर्गत वर्कशीट बनाने का कार्य किया जाता है तथा बनाये गए वर्कशीट पर डाटा एंट्री कर सकते है। यह एक मैथेमेटिकल प्रोग्राम है। जिसके अंतर्गत ऑफिस में होने वाले कार्यो को आसानी से किया  जा सकता  है। शुरू -शुरू  में यह प्रोग्राम टूल्स के अंतर्गत चलाया जाता था। जिसमे सिमित सुविधाएं दी गई थी। लेकिन अब विंडोज के वातावरण में चलाया जाता है। इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिट भी कहते है। इसमें बनाई जाने वाली फाइल का एक्सटेंशन नाम .xls होता है। Features of MS Excel: एम एस एक्सेल की विशेषताएं: एम एस एक्सेल  एक डाटा एंट्री प्रोग्राम है इसमें मैथेमेटिकल कार्यो को कर सकते है।  इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिटशीट भी कहते है।  इसके वर्कशीट में 256 रो और 65536 कॉलम होते है।  इसमें बनाई गई फाइल को इंटरनेट के वातावरण सेव करने की सुविधा दी गई है।  इसमें दिए गए ऑप्शन मर्ज सेंटर के द्वारा हम कई सेलो को मिलकर एक सेल बना सकते है।  इसमें बनाई गई वर

MS Word (हिंदी नोट्स )

  MS Word एम एस वर्ड का परिचय : Introduction of MS Word: एम एस वर्ड माइक्रोसॉफ्ट कार्पोरेशन द्वारा तैयार किया गया एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है। इसके द्वारा ऑफिशल कार्यो को आसानी से कर सकते है। शुरू - शुरू में यह प्रोग्राम एम एस डांस के वातावरण में वर्ड स्टार के नाम से चलता था। जिसमे सिमित सुविधाएं प्रदान की गई थी। एम एस पेंट में लेटर टाइपिंग या अन्य प्रकार के साथ -साथ थोड़ा बहुत पिक्चर भी डिज़ाइन कर सकते है। एम एस वर्ड द्वारा बनाई गई फाइल का एक्सटेंशन नाम .doc  होता है। यह एक बड़ा वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम है। जिसमे टेक्स्ट की फॉर्मेटिंग सरल तरीके से कर सकते है। इसके कई वर्शन है जो इस प्रकार है MS Word   97 MS Word   xp MS Word   2000 MS Word   2002 MS Word   2003 MS Word   2005 MS Word   2007 MS Word   2010 MS Word   2016 एम एस की विशेषताएं : Features of MS Word:  इसमें डॉक्युमेंट फाइल का निर्माण होता है।   इसमें पासवर्ड देने लगाने की सुविधा दी गई है। जिसके प्रयोग करके हम बनाई जा रही फाइल को पासवर्ड से लॉक कर सकते है।  इसमें कई डिज़ाइन में हम टेबल का निर्माण