Skip to main content

what is malware(मैलवेयर क्या होता है)



मैलवेयर की परिभाषा :

मैलवेयर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है। यह जाने अनजाने में ही आप कंप्यूटर में आ सकता है। यह आपकी निजी या किसी सवेदनशील जानकरी इकट्ठा कर सकता है। मैलवेयर आपके किसी भी डाटा को किसी अन्य डिवाइस में भेज सकता है। मैलवेयर का प्रयोग हैकर्स अक्सर किसी के निजी डाटा में सेंध लगाने के लिए करते है। जिससे वे आपका महत्वपूर्ण डाटा आसानी से चुरा सके। 

मैलवेयर के प्रकार : 


वैसे तो मैलवेयर कई प्रकार के पाए जाते है जिसमे से कुछ प्रमुख मैलवेयर निम्न है। 
1. Computer Worms(कंप्यूटर वर्म्स)
2.Trojans Horse(ट्रोजन हॉर्स)
3. Virus(वायरस)
4. Spyware(स्पाईवेयर)
5. Adware(एडवेयर)


1. Computer Worms(कंप्यूटर वर्म्स):

यह एक प्रकार का दुर्भावनापूर्ण प्रोग्राम होता है। यह आपके कंप्यूटर में किसी नेटवर्क के माध्यम से सकता है। जैसे की USB Drive , Hard drive , Media Storage और Email इत्यादि से आ सकता है।मैलवेयर आपके कंप्यूटर में बहुत ही तेजी से फैलता है। यह मैलवेयर आपके कंप्यूटर की मौजूदा फाइल को डिलीट कर देता है। और यह आपके RAM (Random Access Memory) की स्पीड को कम कर देता है। 
जिससे आपका कंप्यूटर हैंग करने लगता है। 

2.Trojans Horse(ट्रोजन हॉर्स):

Trojans Horse भी एक प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है शुरुआत में यह एक उपयोगी और सुरक्षित होने का दावा करता है। और जब आप से अपने कंप्यूटर में शामिल कर लेते है तो यह आपकी फाइलो और हार्डडिस्क को नुकसान पहुँचता है।मैलवेयर आपकी व्यक्तिगत और सवेदनशील जानकारी गलत लोगो को पहुँचता है। 
ज्यादातर मैलवेयर बिना एंटीवायरस के इंटरनेट इस्तेमाल करने और इंटरनेट से मुफ्त एंटीवायरस या अन्य सॉफ्टवेयर इनस्टॉल करने से आता है। 

3. Virus(वायरस):

Virus एक प्रकार का सॉफ्टवेयर प्रोग्राम कोड होता है। जो आपके कंप्यूटर में घुसकर या किसी अन्य डिवाइस में घुसकर आपके कंप्यूटर को कार्य करने में बांधा उत्पन्न करता है। ज्यादातर कंप्यूटर वायरस कंप्यूटर के हार्डडिस्क के Boot sector में जाकर हार्डडिस्क को नुकसान पहुँचाता है।
धीरे-धीरे यह आपके हार्डडिस्क और डिवाइस के हर एक प्रकार की ममोरी में फ़ैल जाता है और उसमे रखे गए डाटा को क्षतिग्रस्त करता है। एक बार डिवाइस में वायरस फ़ैल जाने पर नष्ट हुए डाटा को पुनः प्राप्त कर पाना काफी मुशकील होता है। 

4. Spyware(स्पाईवेयर):

यह एक प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है। यह आपकी इजाजत के बिना ही डिवाइस में सॉफ्टवेयर इन्टॉल करके जानकारी एकत्रित करता है। आम तौर पे spyware की स्थिति आप से छुपी होती है। ताकि वे आप के डिवाइस पर नजर रख सके।  
मैलवेयर मुख्य उद्देश्य आपकी इंटरनेट पर हो रही गतिविधियों पर नजर रखना होता है। 

5. Adware(एडवेयर):

Adware एक प्रकार का एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होता है यह स्पाईवेयर की तरह ही कार्य करता है। फर्क सिर्फ इतना है की यह सॉफ्टवेयर इनस्टॉल नहीं कर सकता है। 


मैलवेयर कहा से आते है :

मैलवेयर आपके कंप्यूटर में कई प्रकार से आ सकते है। इसके प्रमुख श्रोत ईमेल अटैचमेंट,टोरेंट सॉफ्टवेयर ,इन्फेक्टेड वेबसाइट ,नेटवर्क शेयरिंग आदि से आ सकते है। 

मैलवेयर का इस्तेमाल क्यों करते है :

मैलवेयर ज्यादातर वेबसाइट सर्वे करने से आ जाते है। मैलवेयर का उपयोग साइबर क्रिमिनल आपके निजी डाटा का को प्राप्त करने या आपके निजी डाटा को नष्ट करने के लिए करते है।
मैलवेयर की मदद से कोई वेबसाइट आपको अनचाहा अड़वेरटीजमेन्ट को दिखाने के लिए करते है। 

मैलवेयर से कैसे बचा जाये:

मैलवेयर कितने भी हो क्यू न हो आप अपने कंप्यूटर को कुछ महत्वपूर्ण बातो को ध्यान में रखकर बचा सकते है। 
जैसे- ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को हमेशा अपडेट रखे ,डिवाइस में एंटीवायरस एक्टिव रखे पॉपअप डिस्प्ले पर;कभी भी गलती से भी क्लिक न करे। ,अज्ञात यूआरएल पर न क्लिक करे। यदि आपके पास कोई लिंक आता है और आप से ईमेल या किसी अन्य प्रकार के पर्सनल अकॉउंट का पासवर्ड रिसेट करने को कहता है तो तो न करे। डिवाइस को कुछ घंटे या दिनों के  बाद एंटीवायरस से स्कैन करे है। 


Comments

Popular posts from this blog

MS Word (हिंदी नोट्स )

  MS Word एम एस वर्ड का परिचय : Introduction of MS Word: एम एस वर्ड माइक्रोसॉफ्ट कार्पोरेशन द्वारा तैयार किया गया एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है। इसके द्वारा ऑफिशल कार्यो को आसानी से कर सकते है। शुरू - शुरू में यह प्रोग्राम एम एस डांस के वातावरण में वर्ड स्टार के नाम से चलता था। जिसमे सिमित सुविधाएं प्रदान की गई थी। एम एस पेंट में लेटर टाइपिंग या अन्य प्रकार के साथ -साथ थोड़ा बहुत पिक्चर भी डिज़ाइन कर सकते है। एम एस वर्ड द्वारा बनाई गई फाइल का एक्सटेंशन नाम .doc  होता है। यह एक बड़ा वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम है। जिसमे टेक्स्ट की फॉर्मेटिंग सरल तरीके से कर सकते है। इसके कई वर्शन है जो इस प्रकार है MS Word   97 MS Word   xp MS Word   2000 MS Word   2002 MS Word   2003 MS Word   2005 MS Word   2007 MS Word   2010 MS Word   2016 एम एस की विशेषताएं : Features of MS Word:  इसमें डॉक्युमेंट फाइल का निर्माण होता है।   इसमें पासवर्ड देने लगाने की सुविधा दी गई है। जिसके प्रयोग करके हम बनाई जा रही फाइल को पासवर्ड से लॉक कर सकते है।  इसमें कई डिज़ाइन में हम टेबल का निर्माण

MS Excel (हिंदी नोट्स) Hindi notes

MS Excel Introduction Of MS Excel: (एम एस एक्सेल का परिचय ): एम एस ऑफिस के अंतर्गत दिया गया एम एस एक्सेल एक ऑफिसियल प्रोग्राम है। इसके अंतर्गत वर्कशीट बनाने का कार्य किया जाता है तथा बनाये गए वर्कशीट पर डाटा एंट्री कर सकते है। यह एक मैथेमेटिकल प्रोग्राम है। जिसके अंतर्गत ऑफिस में होने वाले कार्यो को आसानी से किया  जा सकता  है। शुरू -शुरू  में यह प्रोग्राम टूल्स के अंतर्गत चलाया जाता था। जिसमे सिमित सुविधाएं दी गई थी। लेकिन अब विंडोज के वातावरण में चलाया जाता है। इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिट भी कहते है। इसमें बनाई जाने वाली फाइल का एक्सटेंशन नाम .xls होता है। Features of MS Excel: एम एस एक्सेल की विशेषताएं: एम एस एक्सेल  एक डाटा एंट्री प्रोग्राम है इसमें मैथेमेटिकल कार्यो को कर सकते है।  इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिटशीट भी कहते है।  इसके वर्कशीट में 256 रो और 65536 कॉलम होते है।  इसमें बनाई गई फाइल को इंटरनेट के वातावरण सेव करने की सुविधा दी गई है।  इसमें दिए गए ऑप्शन मर्ज सेंटर के द्वारा हम कई सेलो को मिलकर एक सेल बना सकते है।  इसमें बनाई गई वर