Skip to main content

Posts

एम एस पावरपॉइंट क्या है || What is MS PowerPoint Hindi

MS Power Point Introduction of MS Power Point एम एस पॉवर पॉइंट का परिचय : एम एस पावरपॉइंट यह एम एस ऑफिस के अंतर्गत दिया गया एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है। जिसके द्वारा प्रेजेंटेशन बनाने का कार्य किया जाता है। स्लाइड एक इलेक्ट्रॉनिक प्रेजेंटेशन है। जिसकी सहायता से हम अपने विचारो को अच्छी तरह से व्यक्त कर सकते है। एम एस पॉवरपॉइंट द्वारा बनाये गए प्रेजेंटेशन को हम कंप्यूटर स्क्रीन या प्रोजेक्टर पर चला सकते है। इसमें बनाये गए  प्रेजेंटेशन  को वेब पब्लिश भी किया जा सकते है। इसके द्वारा बनाई गई फाइल का एक्सटेंशन नाम .ppt   होता है। फीचर्स ऑफ़ एम एस पॉवरपॉइंट: Features of MS PowerPoint: एम एस पॉवरपॉइंट कई प्रकार के टेम्पलेट पहले से स्थित होते है इसमें से किसी को भी सेलेक्ट कर के कार्य किया जा सकता है। इसमें बनाये जा रहे  प्रेजेंटेशन  में साउंड , मूवी , टेक्स्ट , पिक्चर आदि को इन्सर्ट कर सकते है।  इसके द्वारा बनाई गई फाइल को  प्रेजेंटेशन  फाइल कहते है।  एम एस पॉवरपॉइंट में बनाई गई फाइल का एक्सटेंशन नाम .ppt  होता है।  स्टैण्डर्ड टूलबार: Standard Toolbar: न्यू: Ne

MS DOS All Commands in Hindi(एम एस डॉस क्या होता है जाने ?)

MS DOS (Micro Soft Disk Operating System) Introduction of MS DOS (MS DOS का परिचय ): एम एस डॉस इक ऑपरेटिंग सिस्टम है। प्रत्येक कंप्यूटर को चलाने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम की आवश्यकता होती है। ऑपरेटिग सिस्टम का मुख्य कार्य कम्प्यूटर एवं सॉफ्टवेयर के बिच हार्डवेयर को स्थापित करते हुए कम्प्यूटर से वार्तालाप करना है।  इसको माइक्रोसॉफ्ट कॉपोरेशन द्वारा 1981 ई ० में तैयार किया गया। इस ऑपरेटिंग सिस्टम के माध्यम से डिस्क को ऑपरेट करने तथा उस डिस्क के अंतर्गत प्रोग्राम को अपडेट करने का कार्य सफलतापूर्वक किया जा सकता है। इसलिए इसको डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम कहा जाता है।  एम एस डॉस में होने वाले कार्य :   एम एस डॉस में किसी भी कार्य को करने के लिए कमांड का प्रयोग किया जाता है। इसमें हम किसी भी नाम से डाइरेक्टरी का निर्माण कर सकते है और  अन्तर्गत किसी फाइल का निर्माण कर सकते है।     एम एस  डॉस द्वारा बनाई गई फाइल अथवा डाइरेक्टरी को मिटाया जा सकता है। Directory (डाइरेक्टरी ): डाइरेक्टरी एक कवर की तरह कार्य करती है जिस प्रकार कवर किसी डॉक्युमेंट को रखने का कार्य करता है। ठ

MS Excel (हिंदी नोट्स) Hindi notes

MS Excel Introduction Of MS Excel: (एम एस एक्सेल का परिचय ): एम एस ऑफिस के अंतर्गत दिया गया एम एस एक्सेल एक ऑफिसियल प्रोग्राम है। इसके अंतर्गत वर्कशीट बनाने का कार्य किया जाता है तथा बनाये गए वर्कशीट पर डाटा एंट्री कर सकते है। यह एक मैथेमेटिकल प्रोग्राम है। जिसके अंतर्गत ऑफिस में होने वाले कार्यो को आसानी से किया  जा सकता  है। शुरू -शुरू  में यह प्रोग्राम टूल्स के अंतर्गत चलाया जाता था। जिसमे सिमित सुविधाएं दी गई थी। लेकिन अब विंडोज के वातावरण में चलाया जाता है। इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिट भी कहते है। इसमें बनाई जाने वाली फाइल का एक्सटेंशन नाम .xls होता है। Features of MS Excel: एम एस एक्सेल की विशेषताएं: एम एस एक्सेल  एक डाटा एंट्री प्रोग्राम है इसमें मैथेमेटिकल कार्यो को कर सकते है।  इसके वर्कशीट को इलेक्ट्रॉनिक स्प्लिटशीट भी कहते है।  इसके वर्कशीट में 256 रो और 65536 कॉलम होते है।  इसमें बनाई गई फाइल को इंटरनेट के वातावरण सेव करने की सुविधा दी गई है।  इसमें दिए गए ऑप्शन मर्ज सेंटर के द्वारा हम कई सेलो को मिलकर एक सेल बना सकते है।  इसमें बनाई गई वर

MS Word (हिंदी नोट्स )

  MS Word एम एस वर्ड का परिचय : Introduction of MS Word: एम एस वर्ड माइक्रोसॉफ्ट कार्पोरेशन द्वारा तैयार किया गया एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है। इसके द्वारा ऑफिशल कार्यो को आसानी से कर सकते है। शुरू - शुरू में यह प्रोग्राम एम एस डांस के वातावरण में वर्ड स्टार के नाम से चलता था। जिसमे सिमित सुविधाएं प्रदान की गई थी। एम एस पेंट में लेटर टाइपिंग या अन्य प्रकार के साथ -साथ थोड़ा बहुत पिक्चर भी डिज़ाइन कर सकते है। एम एस वर्ड द्वारा बनाई गई फाइल का एक्सटेंशन नाम .doc  होता है। यह एक बड़ा वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम है। जिसमे टेक्स्ट की फॉर्मेटिंग सरल तरीके से कर सकते है। इसके कई वर्शन है जो इस प्रकार है MS Word   97 MS Word   xp MS Word   2000 MS Word   2002 MS Word   2003 MS Word   2005 MS Word   2007 MS Word   2010 MS Word   2016 एम एस की विशेषताएं : Features of MS Word:  इसमें डॉक्युमेंट फाइल का निर्माण होता है।   इसमें पासवर्ड देने लगाने की सुविधा दी गई है। जिसके प्रयोग करके हम बनाई जा रही फाइल को पासवर्ड से लॉक कर सकते है।  इसमें कई डिज़ाइन में हम टेबल का निर्माण

MS Paint Standard Toolbar

MS Paint Home Menu   (ALT+H): Cut: इस ऑप्शन का यूज़ सेलेक्ट किये गए टेक्स्ट ,ऑब्जेक्ट ,या पिक्चर को कट करने के लिए किया जाता है। जिससे सेलेक्ट किया गया मैटर पेज से हट जाता है। इसकी शॉर्टकट कीय   CTRL + X होती है। Copy: इस ऑप्शन का यूज़ सेलेक्ट किये गए टेक्स्ट ,ऑब्जेक्ट ,या पिक्चर को कॉपी  करने के लिए किया जाता है।  इसकी शॉर्टकट कीय   CTRL + C होती है। Paste: इस ऑप्शन का प्रयोग कट अथवा कॉपी किये गए मैटर को पुनः पेज पर लाने के लिए किया जाता है।  इसकी शॉर्टकट कीय   CTRL + V होती है। Paste from: इस ऑप्शन का प्रयोग करने पर इसका एक बॉक्स डिस्प्ले होता है। जिसमे नीचे दिए गए ऑप्शन होते है। Rectangular selection Free-from selection Select all Invert selection Delete Transparent selection Rectangular selection: इस तरह के सेलेक्शन का प्रयोग लिखे गए टेक्स्ट, बनाये गए ऑब्जेक्ट या लाये गए पिक्चर को आयताकार रूप में सेलेक्ट करने के लिये किया जाता है।  Free-from selection; इस सेलेक्शन का प्रयोग लिखे गए टेक्स्ट, बनाये गए ऑब्जेक्ट या लाये गए पिक्चर को टेडी मेड़ी रे

Memory (कंप्यूटर में मेमोरी कितने प्रकार की होती है जाने ?)

Memory (स्मृति ) जिस तरह से मनुष्य को कार्य करने के लिए मस्तिष्क की आवश्यकता होती है। ठीक उसी प्रकार कंप्यूटर को कार्य करने के लिए मेमोरी की आवश्यकता होती है। कंप्यूटर में मुख्य रूप दो मेमोरी होती है।  Primary memory(मुख्य मेमोरी ) Secondary memory(माध्यमिक मेमोरी ) Primary Memory (मुख्य मेमोरी ): यह कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी होती है। क्योकि इसके बिना हम कंप्यूटर पर कार्य नहीं कर सकते है। इसका सम्बन्ध कंप्यूटर की ऑपरेटिंग क्रिया से होती है। अर्थात इसके बिना कंप्यूटर को ऑपरेट नहीं किया जा सकता है।  यह मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है।  ROM (Read only memory) RAM (Random access memory) 1. ROM (Read Only Memory): इस प्रकार की मेमोरी का प्रयोग कंप्यूटर में लिखित डाटा को पढ़ने तथा उसके अनुसार कार्य करने के लिए किया जाता है। इसलिए इसे रीड ओनली मेमोरी कहा जाता है। यह मेमोरी चिप के रूप  हमारे कंप्यूटर के मदरबोर्ड में लगी होती है। इसमें डाटा स्थाई रूप से स्टोर होता है। जिसको मिटाया या नष्ट नहीं किया जा सकता है। इसलिए इसे स्थाई मेमोरी भी कहतेहै है। 

Types of computer(कम्प्यूटर के प्रकार )

दोस्तों   स्तों आज के समय में टेक्नोलॉजी हमारे चारो तरफ फैली हुई है। टेक्नोलॉजी की इस दुनिया में  कम्पुयटर   टेक्नोलॉजी का महत्वपूर्ण अंग है। तो ऐसे में हम सभी  को कम्पुयटर  के  बारे में   जानना बहुत जरुरी हो गया है। दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से हम जानेगे की  कम्प्युटर कितने प्रकार के होते है।   Classifiction  Of Computer (कंप्यूटर का वर्गीकरण ) विश्व में कुल तीन प्रकार के कंप्यूटर पाए जाते है। DIGITAL COMPUTER ANALOG COMPUTER HYBRID COMPUTER DIGITAL COMPUTER: यह कंप्यूटर डाटा को अंको में परिवर्तित कर देता है। अर्थात अंको की गणना करने के लिए डिजिटल कंप्यूटर का प्रयोग किया जाता है। इस प्रकार के कम्प्यूटर का प्रयोग मुख्य रूप से व्यापारिक तथा वैज्ञानिक क्षेत्रो में लिया जाता है। इस  के कंप्यूटर मुख्य रूप से चार प्रकार  होते है।  MICRO COMPUTER MINI COMPUTER MAIN FROM COMPUTER SUPER COMPUTER 1. MICRO COMPUTER: इस तरह के कंप्यूटर को  पर्सनल कंप्यूटर कहते है। क्योकि एक समय में एक ही व्यक्ति इस कंप्यूटर का प्रयोग कर  स

Computer Fudamental( बेसिक )

दोस्तों www.computerhindintes.ooo में आपका स्वागत है। इस ब्लॉग पर कम्प्यूटर से सम्बन्धित नोट्स हिंदी भाषा में उपलब्ध है (फंडामेंटल, विंडोज,एम एस वर्ड, एम एस एक्सेल, एम एस पॉवरपॉइंट,एम एस डॉस, इंटरनेट, टैली, एकाउंटिंग, फोटोशॉप,……. दोस्तों   स्आज के समय में टेक्नोलॉजी हमारे चारो तरफ फैली हुई है। टेक्नोलॉजी की इस दुनिया में  कम्पुयटर   टेक्नोलॉजी का महत्वपूर्ण अंग है। तो ऐसे में हम सभी  को कम्पुयटर  के  बारे में   जानना बहुत जरुरी हो गया है। दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से हम  कम्प्युटर के बारे में बेसिक जानकरी प्राप्त करेंगे।        FUNDAMENTAL DEFINATION   OF COMPUTER: कंप्यूटर की परिभाषा   कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जिसमे इनपुट डिवाइस द्वारा निर्देश दिए जाते   है।  और वह दिए गए निर्देशों का  सही  एवं निश्चित परिणाम मानव की अपेक्षा कम समय में आउटपुट  डिवाइस के माध्यम से प्रस्तुत करता है।  FULL NAME OF COMPUTER: COMPUTER C  =  Compute " गणना करना " O  =  Organized "व्यवस्थित करना " M  =  Mem